Grah


सूर्य के साथ युति फल

सूर्य युति

विभिन्न ग्रहों की युति के क्या फल हो सकते हैं - जब दो ग्रह एक ही राशि में हों तो इसे ग्रहों की युति कहा जाता है | आइये अपनी कुंडली खोलिए और देखिये आपकी कुण्डली में क्या सूर्य के साथ कोई ग्रह की युति है यदि है तो जानिए क्या फल देगी यह युति

1. सूर्य-गुरु :

उत्कृष्ट योग, मान-सम्मान, प्रतिष्ठा, यश दिलाता है। उच्च शिक्षा हेतु दूरस्थ प्रवास योग तथा बौद्धिक क्षेत्र में असाधारण यश देता है।

2. सूर्य-शुक्र :

कला क्षेत्र में विशेष यश दिलाने  वालायोग होता है। विवाह व प्रेम संबंधों में भी नाटकीय स्थितियाँ निर्मित करता है।

3. सूर्य-बुध :

इस योग को बुधादित्य योग भी कहा जाता है | यह योग व्यक्ति को व्यवहार कुशल बनाता है। व्यापार-व्यवसाय में यश दिलाता है। कर्ज आसानी से मिल जाते हैं।

4. सूर्य-मंगल :

अत्यंत महत्वाकांक्षी बनाने वाला  यह योग व्यक्ति को उत्कट इच्छाशक्ति व साहस देता है।ये व्यक्ति किसी भी क्षेत्र में अपने आपको श्रेष्ठ सिद्ध करने की योग्यता रखते हैं।

5.सूर्य-शनि :

अत्यंत अशुभ योग, जीवन के हर क्षेत्र में देर से सफलता मिलती है। पिता-पुत्र में वैमनस्य, भाग्यका साथ न देना इस युति के परिणाम हैं।

6. सूर्य-चंद्र :

चंद्र यदि शुभ योग में हो तो यह युतिमान-सम्मान व प्रतिष्ठा की दृष्टि से श्रेष्ठ होती है, मगर अशुभ योग होने पर मानसिक रोगी बना देती है।

7. सूर्य -राहु/केतु :

इसको ग्रहण योग भी बोलते हैं यह योग शुभ नहीं होता, जातक व्यर्थ विवादी, कभी भी संतुष्ट ना होने वाला, पित्त रोगी होता है | घर में कलह होती है |

Comments (0)

Leave Reply

Testimonial



Flickr Photos

Send us a message


Sindhu - Copyright © 2020 Amit Behorey. All Rights Reserved. Website Designed & Developed By : Digiature Technology Pvt. Ltd.