Grah


Vrishab - Taurus

taurus U  

जब जातक की जन्म कुंडली में चंद्रमा वृष राशि में होता है तो उस जातक की राशि वृष होती है

वृष ज्योतिष में द्वितीय राशि है इसको अंग्रेजी में Taurus  कहते हैं, आइये जाने वृष (Taurus ) राशि वाले कैसे होते हैं

वृष                                    दूसरी राशि कृतिका- II,III, IV                इ,ऊ,ऐ रोहिणी - I,II,III,IV              ओ,वा,वी,वू मृगशिरा - I,II                     वे, वो राशि स्वामी                      शुक्र स्वभाव                             सौम्य दिशा                                 दक्षिण वर्ण                                   वैश्य लिंग                                  स्त्री गुण                                   रजो तत्त्व                                  भूमि योनि                                 पशु प्रभुत्व                               मुख रंग                                    श्वेत रत्न                                   हीरा (Diamond )  

वृषभ राशि का प्रतीक चिन्ह बैल है, इसलिए आपके भीतर बैल के समान गुण भी मौजूद हैं, आप जिद्दी स्वभाव के व्यक्ति होंगे और आपको स्थिर रहना पसंद होगा | आप आसानी से अपनी जगह से हिलना पसंद नहीं करते हैं | यदि आपको अचानक से और अनायास कोई फैसला या किसी बदलाव के लिए कहा जाए तब आपका मूड खराब हो जाता है क्योंकि बिना विचार, मनन किए शीघ्रता से आप कोई काम करना पसंद नहीं करते हैं | आप संयमी धैर्यवान व्यक्ति हैं इसलिए धैर्य आपका विशिष्ट गुण होता है, आपको लोगों पर अधिकार जमाना बखूबी आता है | शुक्र का प्रभाव होने के कारण दिल से सौम्य, विद्वान व गुरुओं का आदर करने में सिद्धहस्त होते हैं | मित्रता और शत्रुता दोनों को निभाना इनको बखूभी आता है | आप अपनी जिम्मेदारियों का निर्वाह बहुत अच्छी तरह से करते हैं, घर के सभी कर्तव्यों का पालन करना अपना धर्म समझते हैं और परिवार की सुख समृद्धि के लिए जितना आपके वश में होता है उससे बढ़कर करते हैं |  आप एक मजबूत विचारधारा रखते हैं और  खासियत यह भी है कि आप जो काम आरंभ करते हैं उसे तब तक करते रहते हैं जब तक कि आप किसी परिणाम पर नहीं पहुंच जाते हैं | आप अपनी विचारधारा के लोगों के साथ ही तालमेल बिठा पाते हैं, अन्य व्यक्तियों से आपको तालमेल जमाने में दिक्कत होती है इसलिए अपने समान बुद्धि के लोगों से मिलना आपको ज्यादा आरामदायक लगता है | ऐसे तो आप निर्णय लेने में समय लेते हैं परन्तु कई बार क्रोध में निर्णय लेने में जल्दबाजी कर देते हैं और यह क्रोध हल्का फुल्का नहीं होता है, भले आप लोगों की नजर में शांत हो जाएँ पर जब तक बदला नहीं ले लेते  क्रोध शांत नहीं होता है |

वृषभ राशि के लिए उपयुक्त कैरियर

वृषभ राशि का स्वामी ग्रह शुक्र होता है और शुक्र ग्रह की गिनती सौम्य ग्रहों में होती है |  शुक्र ग्रह के प्रभाव से कला पक्ष प्रभावी रहता है | गीत,  संगीत, फिल्म, टी.वी. इत्यादि से जुड़े हुए कार्य | शुक्र भोग का कारक है इसलिए सभी भोगवादी वस्तुएं इस ग्रह के अन्तर्गत आती हैं, इसलिए आप  उच्च स्तर की भोग की वस्तुओं से जुड़ा व्यवसाय कर सकते हैं | वाहन, पर्यटन संबंधी,फैशन, डिजायनर कपड, ग्राफिक्स व वेब डिजायनिंग, होटल, फोटोग्राफी, कवि  या न्यूज़ एंकर भी हो सकते हैं |

शुभ रंग : श्वेत शुभ अंक : 6 शुभ रत्न : हीरा, ओपल

राशिफल 2015

आइये देखें - क्या बता रहे हैं सितारे आपके आने वाले वर्ष के लिए

       

 मेष 2015          वृष-2015         मिथुन-2015

   

कर्क-2015              सिंह-2015           कन्या-2015

      

तुला-2015            वृश्चिक-2015        धनु-2015      

   

मकर-2015              कुम्भ-2015           मीन-2015

 


 

Comments (0)

Leave Reply

Testimonial



Flickr Photos

Send us a message


Sindhu - Copyright © 2020 Amit Behorey. All Rights Reserved. Website Designed & Developed By : Digiature Technology Pvt. Ltd.