Grah


Guru Remedy

 

guru 0

बृहस्पति का ज्योतिष चित्रण

देव गुरु बृहस्पति ज्योतिष में एक महत्वपूर्ण ग्रह है, ज्योतिष में देवगुरु को धर्म, ज्ञान और अध्यात्म का अधिपति माना गया है | बृहस्पति से शिक्षा, धार्मिक कार्य, स्वर्ण, अध्यापन, कृषि -भूमि इत्यादि पर विचा किया जाता है | गुरु के कुंडली में कमजोर होने पर व्यक्ति को सम्मान और शांति की प्राप्ति नहीं होती है |
बृहस्पति कर्क राशि में उच्च और मकर राशि में नीच का फल देता है |

गुरू के प्रतिकूल होने पर

 

  •  बृहस्पति के वैदिक मन्त्रों द्वारा 19000 अथवा 76000 बीज मन्त्रों का जाप और हवन करवाना चाहिए |
     
  • सूर्योदय पूर्व पीपल की पूजा करें।
  •  भगवान नारायण (विष्णु) की आराधना करें व सन्तों का सम्मान करें।
  • धार्मिक पुस्तकों का वितरण करने से भी गुरु प्रसन्न होते हैं |
  • गुरु अथवा गुरु तुल्य किसी भी व्यक्ति के अनादर से बचें |
  • गुरुवार का व्रत करें |

नोट : आपका कौन सा ग्रह उचित फल नहीं दे रहा उसको किसी योग्य ज्योतिष के विद्वान से सलाह ले कर ही उपाय करें |

यदि आप जानना चाहते हैं की क्या उपाय हैं आपके लिए श्रेष्ठ तो क्लिक करें
कौन से उपाय करेंगे बेडा पार

Comments (0)

Leave Reply

Testimonial



Flickr Photos

Send us a message


Sindhu - Copyright © 2020 Amit Behorey. All Rights Reserved. Website Designed & Developed By : Digiature Technology Pvt. Ltd.