Grah


फिजिकल इम्युनिटी से मेंटल इम्युनिटी तक

फिजिकल इम्युनिटी से मेंटल इम्युनिटी तक...

आज के इस महामारी के दौर में हर तरफ लोग घबराहट, बेचैनी और अवसाद ग्रस्त होते जा रहे हैं | आइये ज्योतिषीय दृष्टि से कोरोना को समझें साथ ही यह भी समझें की हम इससे कैसे अपना बचाव कर सकते हैं, जिनको कोरोना नहीं हुआ वो अपने को मानसिक रूप से मजबूत कैसे करें और जो कोरोना से जूझ रहे हैं वो भी भारतीय प्राच्य विद्या द्वारा इससे कैसे मुक्ति पाएं ... अमित बहोरे 

आज कल हर तरफ कोरोना का भय व्याप्त है, कोरोना का सेकंड वेव में कोरोना वायरस ने फेफड़ों पर अटैक कर के लोगों को जान लेना शुरू कर दिया है | इससे सभी लोग भयभीत हैं, जनमानस में अजीब सा माहौल बन गया है | मीडिया ने भी इस कोरोनाकाल में भयभीत करने की कोई कसर नहीं छोड़ी है, 98.65% लोग इस बीमारी से रिकवर हो रहे है, जोकि बहुत ही अच्छा रिकवरी रेट है साथ ही 90% लोग सात दिन में ही नेगेटिव हो जा रहे हैं | कोरोना फेफड़े से अधिक दिमाग पर काम कर रहा है, डर लोगों के सर चढ़ कर बोल रहा है | डर से हमें बचना है, क्योंकि डर से अधिक लोग मर रहे हैं | अत: न्यूज़ ना देखें और जितना हो सके हंसी मजाक वाले कार्यक्रम को देखें, मन से भय निकाल दें और कोरोना को साधारण वायरल फीवर की तरह मान कर चलें | चिकित्सीय सलाह लेते रहें और लापरवाही से बचें |

इस समय हमको एक दूसरे का हर संभव सहयोग करना है, जो लोग मौकापरस्ती में लगे हुए हैं और परेशान लोगों को परेशान कर रहे हैं उनको ये याद रखना चाहिए की ऊपर एक महाशक्ति है जो ये सब देख रही है और जब वो लाठी मारेगी तो चीखें निकल जाएँगी |

आइये ग्रह नक्षत्रों द्वारा समझें की यदि कोरोना हो भी जाए तो इससे कैसे बचा जाए या अपना इम्यून सिस्टम को कैसे मजबूत किया जाए | कोरोना सेकंड वेव में मुख्य रूप से सर्दी, जुकाम, बुखार बढ़ता है और फिर निमोनिया या फेफड़े का गंभीर इन्फेक्शन हो जाता है जिससे साँस लेने में समस्या आती है और घबराहट- बेचैनी बढ़ जाती है |

अब ज्योतिषी दृष्टि से देखें तो इसमें चन्द्रमा का मुख्य रोल है, चंद्रमा कफ प्रधान ग्रह है चंद्रमा के दूषित होने पर जातक सर्दी जुकाम से पीड़ित रहता है, उसके साथ ही चन्द्रमा मन का कारक भी होता है | जिसकी कुंडली में चन्द्रमा दूषित है या जो भी व्यक्ति चन्द्र प्रधान है वो ही इस समस्या से पीड़ित हो रहा है |

जिसकी कुंडली में कर्क राशि या कर्क लग्न है, वृश्चिक राशि या वृश्चिक लग्न है अथवा उनका चंद्रमा राहू,शनि या केतु के साथ बैठा है या इनके साथ दृष्टि सम्बन्ध में है वो इस महामारी में या तो संक्रमित हो रहे हैं या तो भयभीत हो कर अनावश्यक रूप से अपने स्वास्थ को प्रभावित कर रहे हैं |

चन्द्र कुण्डली में कमजोर या पीड़ित होतो व्यक्ति को ह्रदय रोगफेफडेदमा,  गर्भाशय के रोगमाहवारी में अनियमितताचर्म रोगरक्त की कमी निद्रा,  ज्वरतपेदिकबलगमजुकामसूजनजल से भयगले की समस्याएंउदर-पीडाफेफडों में सूजनक्षयरोग आदि की सम्भावना अधिक होती है |  चन्द्र प्रभावित व्यक्ति बार-बार विचार बदलने वाला होता है, मनोस्थिति में नकारात्मक विचार चन्द्रमा के कमजोर होने से आते है | वर्तमान समय में कोरोना रोग से अधिक कोरोना भय लोगों की जान ले रहा है | इसमें मन को मजबूत करने का सबसे अधिक प्रयास करना चाहिए |

·पूर्णिमा पर चन्द्रमा की रोशनी में आसन पर बैठ कर यथा शक्ति ॐ नमः शिवाय का जप करना चाहिए |

·सोमवार को शिव जी को दूध में गंगाजल मिला कर चढाना चाहिए |

·ॐ सोम सोमाय नमः का जप प्रतिदिन करें |

·चांदी के गिलास में पानी पीयें |

·नकारात्मक लोगों या खबर से दूर रहे |

·अनुलोम–विलोम प्राणायाम करें  |

·प्रतिदिन डीप ब्रीथिंग्स (Deep Breathing) 10 मिनट तक करें |

·शितोपलाधि चूर्ण को शहद में मिला कर सेवन करें |

जो कोरोना से पीड़ित है वो भी यथा शक्ति ॐ नमः शिवाय का जप करें, इसको लेटे लेटे भी कर सकते हैं | 

ॐ नमः शिवाय मम (अमुक) रक्षा कुरु कुरु स्वाहा  का जप मरीज खुद भी कर सकता है अथवा उसके घर के सदस्य भी मम के स्थान पर उसका नाम जोड़ कर कर सकते हैं |

जिनका ऑक्सीजन लेवल कम हो जा रहा है उसके लिए कलर ट्रीटमेंट में एक प्रयोग है जो हमारे मित्र डॉ अजय मिश्रा द्वारा सुझाया गया है और यकीन मानिये ये इतना प्रभावशाली है मैंने खुद 50 से अधिक लोगों पर इसका प्रयोग किया है जिसमें 1 वर्ष से ले कर 73 वर्ष तक के मरीज थे, जिन लोगों ने इसका लाभ लिया यदि मेरा ये आर्टिकल पढ़ें तो अपना अनुभव कमेंट बॉक्स में डाल सकते हैं |

इसमें करना क्या है, दो रंगों का प्रयोग करना है एक सफ़ेद और दूसरा काला उसको दी गयी फोटो के अनुसार अपने हाथ पर लगा लेना है और 30 से 45 मिनट में आपकी ऑक्सीजन लेवल वापस सही हो जाएगी, इसका कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है |

www.amitbehorey.com

काले निशान के लिए - काला स्केच पेन, काली स्याही इस्तेमाल कर सकते है

सफ़ेद निशान के लिए - सफ़ेद के लिए वाइटनर या कोई भी सफ़ेद पेंट का इस्तेमाल कर सकते हैं

 इन उपाय को करके हम कोरोना रूपी महामारी से अपना बचाव कर सकते है | साथ ही अपने मन को इतना मजबूत कर सकते है कि हमारे मन पर  नकारात्मक हावी नहीं होने पाए | इस अदृश्य शत्रु से अदृश्य दैवीय शक्तियों द्वारा काबू पाया जा सकता है | 

 

अमित बहोरे ज्योतिषाचार्य 

9198413333

 

Comments (1)

देवी प्रसाद

हमारे आक्सीजन लेवल का मालिक गुरु बृहस्पति देव है अत: गुरु अराधना ईष्टदेव अराधना श्रेस्यकर होगा

Leave Reply

Online Consultation

Popular Posts

Testimonial



Flickr Photos

Send us a message


Sindhu - Copyright © 2021 Amit Behorey. All Rights Reserved. Website Designed & Developed By : Digiature Technology Pvt. Ltd.